HAPPY NEW YEAR 2017

HAPPY NEW YEAR -2017

क्या सिर्फ गाड़ी का हार्न बजाने मात्र से हमारी जिमेवारी पूरी हो जाती है ।

क्या सिर्फ गाड़ी का हार्न बजाने मात्र से हमारी जिमेवारी पूरी हो जाती है ।
जी हाँ , में यह ही कहना चाहता हूँ । मैं अक्सर सडको पर , शहरों की गलीओं में,
या फ़ीर भीड़ भाड़ वाली जगहों पर लोगों को आपस में लडते हूए जख्मी हालत में
देखता हूँ । अग़र हम दुर्घटना में जख्मी हूए लोगों के पास जाएँ और पूछें की
भाई यह दुर्घटना केसे हुई तो वोह यह ही कहते हैं की मेरा कोई कसूर नहीं है
मैने तो गाड़ी का हार्न बजाय था । यही नहीं अक्सर देखने में आता है की हम
चोराहोंं पर दायें , बायें बिलकुल भी नहीं देखते हैं बस हार्न बजाते हैं और
तेज गती से अपना वहान चलते हुए नीकल जाते है दुर्घटना की स्थिति में यह कह कर
दूसरों पर दोष मढ़ देते हैं की मैंने तो हार्न बजाय था, यह ही सथिती कीसी
दुसरे वाहन को क्रास करते हुए भी पाई जाती है हम लोग हार्न बजाते हैं और
तेजी से सड़क पर साथ चल रहे वाहन को क्रास करने की कोशीश करतें हैं और
दुर्घटना का कर्ण बनते हैं अंत में फ़ीर वोही बात मैंने तो हार्न बजाय था
गलती तो दूसरी की है ।*
*सीर्फ हार्न बजा कर ही हमारी जिम्मेदारी पूरी नही हो जाती है , हार्न का
मतलब यह नहीं है की आप सड़क पर यातायात के नीयम का उलंघन करें ।*
*हार्न हमारी और सड़क पर चल रहे दुसरे लोगों की सुरक्षा के लीए है ना की नीयम का
उलंघन कर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ने के लीए । *

*( संजय कुमार फरवाहा) *

हाथी मैं तेरा तू मेरा महावत

More